Friday, 13 October 2017

Motivational quote in Hindi

ये दुनिया भी बदलेगी हर शख्श भी बदलेगा,
लोगो की जुबां का ये लब्ज भी बदलेगा,
मायूश मत हो ये परिंदे घड़ियों क परिवर्तन में;
ये ऋतु भी बदलेगी और ये वक्त भी बदलेगा|
                                    

आत्मसम्मान की कविता ( Attitude poem)

बाहर वाले को दिल के अंदर का क्या पता,
हंसने वाले को आँखों के मंजर  का क्या पता, 
मुझसे पूछते हो कि सूरज में कितनी गर्मी है ;
अरे ये जाकर तालाबों से पूछो समंदर को क्या पता| 
                                        

Thursday, 12 October 2017

आत्मसम्मान की कविता ( Attitude poem)

वक्त पर कुछ खास है ज़िंदगी,
वक्त से पहले एक एहसास है ज़िंदगी,
उस वक्त को बड़े शौक से जी लो;
क्योंकि वक्त के बाद फिर उदास है ज़िंदगी|
                 

नाम हिंदुस्तान का हो

न हिन्दू का हो ,न मुसलमान का हो
न गीता का हो, न कुरान का हो
नाम जब भी आये लोगों की जुबां पर;
तो वो नाम सिर्फ और सिर्फ हिंदुस्तान का हो|
       
                                   
                                

Saturday, 7 October 2017

Sad Poem

यहाँ वक्त की लकीर बदल जाती है ,
पल भर में तकदीर बदल जाती है ,
एक बार जो खो जाये वो दोबारा नहीं मिलता ,
और मिलता भी है तो तस्बीर बदल जाती है..

Thursday, 5 October 2017

Sad शायरी

हर गम को पीना तो पड़ता ही है ,
हर जख्म को सीना तो पड़ता ही है,
हमारी ख़ुशी तो खुदखुशी में थी लेकिन,
किसी और की ख़ुशी के लिए जीना तो पड़ता है |

First

Sad shayari