Thursday, 5 October 2017

Sad शायरी

हर गम को पीना तो पड़ता ही है ,
हर जख्म को सीना तो पड़ता ही है,
हमारी ख़ुशी तो खुदखुशी में थी लेकिन,
किसी और की ख़ुशी के लिए जीना तो पड़ता है |

First

Sad shayari