Saturday, 7 October 2017

Sad Poem

यहाँ वक्त की लकीर बदल जाती है ,
पल भर में तकदीर बदल जाती है ,
एक बार जो खो जाये वो दोबारा नहीं मिलता ,
और मिलता भी है तो तस्बीर बदल जाती है..

First

Sad shayari