Friday, 4 May 2018

शायर सत्येन्द्र की Sad शायरी

हम बारिश में पतंग उड़ाना जानते हैं,

दिल की आग को बुझाना जानते हैं,

अब न कहना कि हमे रोना नहीं आता,

दरअसल हम आंखों में आंसू सुखाना जानते हैं...

First

लड़के भी रोते हैं, जब घर से दूर होते हैं / हिंदी कविता शायर के द्वारा

￰घर में बच्चे लेकिन बहार  मशहूर होते  हैं अ जी लड़के भी रोते हैं, जब घर से दूर होते हैं लड़के भी घर से बाहर मम्मी-पापा के बगैर  होते हैं ...