Friday, 4 May 2018

शायर सत्येन्द्र की Sad शायरी

हम बारिश में पतंग उड़ाना जानते हैं,

दिल की आग को बुझाना जानते हैं,

अब न कहना कि हमे रोना नहीं आता,

दरअसल हम आंखों में आंसू सुखाना जानते हैं...

First

Sad shayari