Satyendra Kumar

अभी तो दुनिया की पहचान बाकी है,

अभी तो बीच सफर में थकान बाकी है,

तुमने अभी से समेट लिए पर अपने,

     अभी तो सारी उड़ान बाकी है.....         
 

Comments